peoplessamachar.co.in

Uncategorised

modi-नई दिल्ली ई।मोदी सरकार के 20 महीने पूरे हो चुके हैं। इन 20 महीनों में जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के नेतृत्व वाली एनडीए बिहार और दिल्ली के विधानसभा  चुनाव भले ही हार गई हो लेकिन ये एक चौंकाने वाला तथ्य है कि आज भी देश में मोदी की लहर बरकरार है। मोदी सरकार ने जहां कई कामों में वाहवाही लूटी तो कई मुद्दों पर विपक्ष ने सरकार को घेरा भी है लेकिन पीएम मोदी की छवि लोगों के दिलों में अलग ही घर कर गई है। एबीपी न्यूज-नील्सन सर्वे में नरेंद्र मोदी को देश का बेहतरीन पीएम बताया है। इतना ही नहीं अगर आज की तारीख में चुनाव हुए तो एनडीए 301 सीटों पर लोकसभा चुनाव जीतेगी। इस सर्वे पर कई सवाल किए गए हैं जिनमें कई मुद्दों पर जनता बीजेपी के साथ दिखी है तो कई मुद्दों पर पीएम मोदी से निराश भी नजर आई। 

amrica-flag-2वॉशिंगटन। अमेरिकी राज्य नेवादा भारत में अपने यात्रा एवं पर्यटन क्षेत्र को प्रोत्साहित करने के लिए नई दिल्ली में एक नया पर्यटन कार्यालय खोलेगा। नेवादा के लेफ्टिनेंटट गवर्नर थॉमस हचिंसन ने इसके उद्घाटन के लिए भारत की यात्रा शुरू करने से पहले कहा, भारत में कार्यालय खोलने से नेवादा को भारत में हमारे राज्य के पर्यटन और अंतरराष्ट्रीय यात्रा को प्रोत्साहित करने का बड़ा अवसर मिलेगा। उन्होंने कहा कि भारतीय यात्रा बाजार में राज्य की 6.5 प्रतिशत हिस्सेदारी है और शोध संकेत देते हैं कि भारत की ओर से यात्रा का एक बड़ा कारण यह है कि लोग अमेरिका में रह रहे अपने परिवारों से मिलने आते हैं।  

 raghuram- दावोस। रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा है कि भारत में आर्थिक सुधार सही दिशा में आगे बढ़ रहे हैं, लेकिन उन्होंने देश में अनेक पुराने व बेकार के कायदे कानून बने रहने का जिक्र करते हुए कहा कि सुधार का स्तर ठीक नहीं है। राजन ने ब्लूमबर्ग टीवी को कल दिये एक साक्षात्कार में कहा कि मैं अपनी बात को इस तरह रखता हूं कि सुधारों की दिशा सही है लेकिन उनका स्तर गड़बड़ है। हमारे पास गलत नियम बहुत ज्यादा है, सही नियमनों की संख्या अभी बहुत कम है। उन्होंने कहा कि इसलिए हमें इसकी छंटाई की जरूरत है। यह एक झटके में नहीं होता, इसमें समय लगेगा। हम इसे कर रहे हैं। हम इस बात को मानते हैं कि हमारे यहा नियमन कुछ ज्यादा जरूर हैं। कारोबारियों को बेहतर माहौल की जरूरत है। राजन ने कहा कि इसके साथ ही नई तरह का कारोबार भी आ रहा। इनसे निपट के लिए हमें तौर तरीके तलाशने होंगे। उदाहरण के तौर पर आॅनलाइन ऋण। यदि गिरावट होती है तो हम क्या करेंगे? राजन भारत में आर्थिक सुधारों के बारे में पूछे गए सवाल का जवाब दे रहे थे। राजन को इस बात को लेकर अफसोस है कि लोग केवल बड़े सुधारों की बात करते हैं लेकिन जिन सुधारों पर इस समय काम चल रहा है उनकी बात नहीं करते हैं। राजन ने कहा कि काफी कुछ चल रहा है। पिछले सप्ताह ही प्रधानमंत्री ने स्टार्ट अप इंडिया अभियान का उद्घाटन किया है। इसमें वास्तव में नया व्यवसाय शुरू करने के रास्ते में आने वाली रुकावटों को दूर किया गया है। नए व्यावसाय को शुरू करने से पहले पेंशन कोष सहित उसे 10, 15, 20 विभिन्न प्राधिकरणों के पास पंजीकृत कराना होता है। रिजर्व बैंक गवर्नर ने कहा कि आपके पास एक कर्मचारी है तो उस समय आपको पेंशन कोष की जरूरत क्यों है? इस समय विचार है कि कोई भी काम शुरू करने को आसान बनाया जाए, इसमें निरीक्षण को भी अलग किया जाए। तीन साल तक कोई भी निरीक्षक जांच नहीं करेगा। आप स्वयं ही प्रमाणित करें कि आपने क्या किया। चीन की वृद्धि को लेकर ज्यादा चिंतित नहीं उन्होंने कहा कि भारत में तेजी से बढ़ता निजी क्षेत्र भी है। इंटरनेट मार्केट प्लेस भी है, यह काफी बेहतर है क्योंकि भारत में सस्ती जमीन उपलब्ध नहीं है। आप जहां इच्छा हो खुदरा स्टोर कहीं भी नहीं बना सकते हैं। एक अन्य सवाल के जवाब में राजन ने कहा कि वह चीन की अर्थव्यवस्था में सुस्ती को लेकर चिंतित नहीं हैं। जहां तक मात्राा में वृद्धि की बात है, चीन में डॉलर के लिहाज से काफी वृद्धि आ रही है। हालांकि, प्रतिशत में लगातार गिरावट आ रही है। ऐसी अर्थव्यवस्था जो लगातार धनी और समृद्ध हो रही है, उसकी चाल में सुस्ती आना स्वाभाविक है। उन्होंने कहा कि इसलिए मैं चीन की वृद्धि को लेकर ज्यादा चिंतित नहीं हूं। 

11इंदौर बैंड पर देशभक्ति गीतों की मधुर धुनों पर शानदार मार्चपास्ट करने के बाद मंगलवार को 358 नवआरक्षकों ने देश की सीमा और संविधान की रक्षा करने की शपथ ली। सीमा सुरक्षा बल के इंदौर स्थित केंद्रीय आयुध एवं युद्ध कौशल विद्यालय (सीएसडब्ल्यूटी) के परेड मैदान में सुबह कोहरे एवं तेज ठंड के बीच नवआरक्षकों का जोश देखते ही बनता था। सीएसडब्ल्यूटी के महानिरीक्षक सुनील कुमार वर्मा ने परेड का निरीक्षण किया तथा बैंड की मधुर धुनों पर परेड कमांडर संजय कुमार के नेतृत्व में परेड की सलामी ली। महानिरीक्षक सुनील कुमार वर्मा ने बैच क्रमांक 166 के आरक्षक अशोक भट्ट और बैच क्रमांक 167 के आरक्षक तुषार तीर्थनाथ को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर पदक प्रदान कर सम्मानित किया। उनके हाथों इन दोनों बैंच के उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले आरक्षक सुभाषचंद्र, ध्रुव कुमार, रोहित सिंह, गोपी राम, हेमू प्रजापति, विश्वजीत और मुकेश कुमार पदक से सम्मानित हुए। इस अवसर पर महानिरीक्षक वर्मा ने सभी नवआरक्षकों को विधिवत रूप से सीमा सुरक्षा बल में शामिल होने पर बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कुशल प्रश्क्षिित सीमा प्रहरी के रूप में आपके कंधों पर देश की सीमा की सुरक्षा का दायित्व है। उन्होंने नवआरक्षकों से आह्वान किया कि वे सुरक्षा बल की गौरवमयी परंपरा के अनुरूप अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए देश के नागरिकों की अपेक्षाओं पर खरा उतरें। उन्होंने कहा कि नवआरक्षक देश की सीमा के साथ आंतरिक सुरक्षा में भी सीमा सुरक्षा बल पूरी सजगता, वीरता और अदम्य साहस का परिचय देते देश की एकता और अखंडता को बनाए रखने में

10इंदौर। एमपीईबी के असिस्टेंट इंजीनियर की मंगलवार तड़के संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। उसे भांजा एमवाय अस्पताल लेकर पहुंचा था। तीन माह पहले ही उसकी नौकरी लगी थी। घटना संयोगितागंज थाना क्षेत्र के जावरा कंपाउंड में मंगलवार तड़के 6.15 बजे की है। पुलिस ने बताया कि राकेश पिता मनसिंह (28) को अभिषेक नामक युवक बेहोशी की अवस्था में एमवाय अस्पताल लाया था। प्रारंभिक जांच के बाद ही डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। अभिषेक ने बताया कि राकेश उसके मामा हैं। वे मूल रूप से छिंदवाड़ा के रहने वाले हैं। मामा- भांजे दोनों किराए के कमरे में रहते थे। अभिषेक का कहना है कि मामा राकेश की तीन माह पहले ही एमपीईबी में असिस्टेंट इंजीनियर के पद पर नौकरी लगी थी। वे नौकरी मिलने पर इंदौर आ गए थ। मैं देर रात 1 बजे तक पढ़ाई कर रहा था। मामा सो गए थे, आज तड़के जोर से आवाज आई तो मेरी नींद खुली। मैंने देखा मामा नीचे गिर हुए हैं। मैंने आवाज दी तो उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया। इस पर मैं कुछ लोगों की मदद से उन्हें एमवाय अस्पताल लेकर आया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत बताया। इस मामले में पुलिस ने मर्ग दर्ज कर लिया है। पुलिस को शंका है कि हार्टअटैक से मौत हुई होगी। बाकी पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद ही सही कारणों का पता चल सकेगा।