Wed23042014

Last updateWed, 23 Apr 2014 3am

Uncategorised

पूर्वाग्रहों से मुक्ति के कदम

purvagrahहमारा समाज अक्सर किन्नर समुदाय का उपहास उड़ाता है। उनके प्रति अपशब्दों का इस्तेमाल करता है। रेलवे स्टेशन, बसस्टैण्ड, विद्यालय, कार्यस्थल, मॉल, थिएटर, अस्पताल जैसे सार्वजनिक स्थलों पर उन्हें एक किनारे कर उनके साथ अछूतों जैसा व्यवहार किया जाता है। किन्नर या हिजड़े शारीरिक व मनोवैज्ञानिक दृष्टि से पुरुष नहीं हैं। वे महिला भी नहीं हैं। हालांकि वे महिलाओं की तरह हैं, लेकिन उनमें स्त्रियोचित प्रजनन अंग नहीं हैं। न्यायमूर्ति के.एस. राधाकृष्णन एवं न्यायमूर्ति ए.के. सीकरी सर्वोच्च न्यायालय द्वारा किन्नर या हिजड़ा समुदाय को मान्यता प्रदान किए जाने के पक्ष में दिया गया निर्णय ऐतिहासिक ही नहीं क्रांतिकारी भी है। यह स्थापित करते हुए कि लैंगिक पहचान को मान्यता न देना संविधान के अनुच्छेद 14 एवं 21 का उल्लंघन है, न्यायालय ने यह भी कहा है कि ऐसे समूह में आने वाले व्यक्तियों (हिजड़ों) को तीसरे लिंग के रूप में एक कानूनी आधार मिलेगा एवं उन्हें सभी कानूनी व संवैधानिक अधिकार भी प्राप्त होंगे। इसी के साथ सर्वोच्च न्यायालय ने यह भी कहा है कि संविधान के अनुच्छेद 15 एवं 16 में प्रयोग में लाई गई भावना लिंग सिर्फ पुरुष या स्त्री तक सीमित नहीं है, बल्कि इसकी आकांक्षा उन लोगों को भी शामिल करने की है जो कि न तो पुरुष हैं और न ही स्त्री। इतना ही नहीं इसे महज सामाजिक या स्वास्थ्य का मुद्दा न बताते हुए मानवाधिकार के हनन की संज्ञा दी है। यहां पर एक अत्यंत महत्वपूर्ण प्रश्न खड़ा होता है कि इस समुदाय को अपना वैधानिक हक पाने के लिए संविधान की स्थापना के बाद भी छह दशकों तक इंतजार क्यों करना पड़ा? साथ ही इस निर्णय ने भारतीय संसद की कार्यप्रणाली एवं प्रतिनिधित्व पर पुन: सवालिया निशान लगा दिया है। संसद के द्वारा इस मामले का संज्ञान में

Read more...

शाहरुख ने फराह को काली एसयूवी कार भेंट की

sharukhकोरियोग्राफर से फिल्मकार बनीं फराह खान का कहना है कि दोस्त शाहरुख खान से नई काली एसयूवी कार मिलने से वह खुशी के मारे फूली नहीं समा रही हैं। फराह (49) और शाहरुख अपनी अगली एक्शन कोमेडी फिल्म ‘हैपी न्यू ईयर’ को फिल्माने में व्यस्त हैं। इस फिल्म में शाहरुख ‘ओम शांति ओम’ एवं ‘चेन्नई एक्सप्रेस’ के बाद एक बार फिर दीपिका पादुकोण के साथ नजर आएंगे। फराह ने ट्विटर पर तस्वीर डाली और लिखा कि देखिए मुझे क्या मिला । बहुत बहुत धन्यवाद, बहुत खुश हूं मैं। इस फोटो में कार से सटकर खड़े फराह और शाहरुख मुस्कुरा रहे हैं। 

Read more...

खिताब के लिए जंग आज

मीरपुर। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेमीफाइनल में धमाकेदार जीत दर्ज करने के बाद वर्ष 2007 की चैपियन भारतीय क्रिकेट टीम आईसीसी विश्वकप ट्वेंटी -20 टूर्नामेंट में इतिहास दोहराने से बस एक कदम दूर है और रविवार को खिताब हासिल करने के लिये उसे श्रीलंका की आखिरी चुनौती को पार करना होगा। उधर महिलाओं के विश्व कप में इंग्लैंड की टक्कर पूर्व चैम्पियन आॅस्टेलिया के साथ होगी। अपने सभी ग्रुप मैच जीतकर शीर्ष पर काबिज हुई भारतीय टीम ने शुक्रवार को सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका जैसी मजबूत टीम पर छह विकेट से आसान जीत दर्ज की थी। खिताब की प्रबल दावेदारों में से एक टीम इंडिया भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के नेतृत्व में जिस विजयी रथ पर सवार है उसे मंजिल तक पहुंचने के लिये बस एक अदद जीत और चाहिये। भारत वर्ष 2007 की चैंपियन है और कप्तान धोनी का लक्ष्य इस बेहतरीन फार्म और खिलाड़ियों के बीच शानदार तालमेल की बदौलत

Read more...

कलेक्टर ने किया कृषि उपज मंडी का निरीक्षण

शाजापुर। जिले में चल रही समर्थन मूल्य गेंहू खरीदी के परीप्रेक्ष में कलेक्टर ने किसानों से आग्रह किया है कि गेंहू विक्रय के लिए केन्द्र पर लाने से पूर्व उसे सूखा लें ताकि गेंहू में नमी नही रहे। साथ ही गेंहू छान कर लाए। किसानों से यह भी कहा गया है कि खरीदी एसएमएस उन्हें तीन बार किया जाएगा। इसलिए प्रथम एसएमएस मिलने पर वे गिला गेंहू लेकर नहीं आ जाऐ। गेंहू खरीदी 26 मई तक चलेगी। इसलिए कोई भी किसान गेंहू बेचने से वंचित नहीं रहेगा। बुधवार को यह बात कलेक्टर प्रमोद गुप्ता ने कृषि उपज मंडी के निरीक्षण के दौरान किसानों से कही।

Read more...

परेशान किसान आंदोलन पर उतरे

सोनकच्छ। स्थानिय कृषि उपज मंडी समिति में अपना अनाज बेचने आए किसान हमेशा की तरह बुधवार को फिर एक बार परेशान होते हुए आंदोलन पर उतर आए और मंडी प्रशासन हाय हाय जैसे नारे लगाते हुए सैकड़ों की संख्या मे एसडीएम कार्यालय पहुंचे। जहां उपस्थित नायब तहसीलदार जितेन्द्र वर्मा ने किसानों को मंडी में पहुंचने के लिए बोला व स्वयं भी थाना प्रभारी बीएस गोरे के साथ मंडी प्रांगण में पंहुचे। लगभग ढाई घंटे देरी से अनाज नीलामी व समर्थन मूल्य के गेहूं की खरीदी प्रारम्भ हुई । बुधवार को कृषकों द्वारा लाई गई अधिकांश समर्थन मूल्य की गेहूं की फसल मानक स्तर की न होकर उससे हल्की क्वालिटी की थी। इसी दौरान मंडी के समस्त व्यापारियों द्वारा भी मंडी प्रशासन को हाल ही में दिए गए ज्ञापन के विभिन्न बिन्दुओं पर अमल नहीं होने पर एवं दी गई चेतावनी अनुसार बुधवार को लगभग 12 बजे नीलामी का कार्य बंद कर दिया । जिसे लेकर खरीदी कर रही तीनों संस्थाओं ने कृषकों के उक्त गेहूं की खरीदी करने से मना कर दिया जिसके चलते सैकड़ों किसान आक्रोशित हो उठे । मंडी में समर्थन मूल्य के गेहूं की खरीदी कर रही तीनों संस्थाओं के द्वारा गेहूं की खरीदी रोकने व व्यपारियों द्वारा अनाज की नीलामी रोक देने से किसान आक्रोशित हो उठे और मंडी प्रशासन हाय हाय जैसे नारे लगाते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंच गए। जहां नायब तहसीलदार वर्मा ने किसानों को समझाइश देकर मंडी भेज दिया व स्वयं भी वहा पहुंचे।

Read more...